mamta banerjee

लोकसभा चुनाव 2019: ममता का बीजेपी पर ‘हमला’, खींचे जा रहे चुनाव

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क प्रीति दादूपंथी। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधा है। इस बार उन्होंने ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि, ‘केंद्र सरकार लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया को लंबा इसलिए खींचा रहा है, जिससे बीजेपी एक ओर हमला करवा सकें।’ वहीं बीजेपी ने ममता के इस आरोप को बेबुनियादी बताया है। आपकों बता दें कि पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव सभी सात चरणों में होगा। पहले चरण का मतदान 11 अप्रैल जबकि सातवें और अंतिम चरण का मतदान 19 मई को होगा। ममता ने यह दावा कियै है कि उनकी पार्टी राज्य की सभी 42 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेगी। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि, ‘उन्हें लंबी खींची जा रही चुनावी प्रक्रिया से कोई दिक्कत नहीं है, इससे चुनाव कर्मी एवं वोटर ‘परेशान’ होंगे और उन्हें चिलचिलाती गर्मी का सामना करना पड़ेगा।’

ममता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लगाया आरोप

सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कहा है कि, ‘लोकसभा चुनाव की प्रक्रिया को लंबा इसलिए खींचा गया है ताकि भाजपा बंगाल को परेशान करने की अपनी योजना के तहत एक और हमला करा सके। ममता ने यह भी कहा कि, ‘लोकसभा चुनावों के लिए उनकी पार्टी के उम्मीदवारों की सूची मंगलवार को जारी कर दी जाएगी।’ ममता ने साथ ही साथ कहा कि, ‘कुछ वरिष्ठ पत्रकारों ने मुझे बताया है कि एक और हमला (स्ट्राइक) होगा…मैं नहीं कह सकती कि किस तरह का हमला होगा।’ साथ ही उन्होंने कहा कि, ‘कृपया मुझे गलत तरीके से पेश नहीं करें। चुनाव आयोग जैसी संवैधानिक संस्था के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है, लेकिन पश्चिम बंगाल में माहौल खराब करना भाजपा की योजना का हिस्सा है।’ टीएमसी प्रमुख की टिप्पणियों को भारत की ओर से की जा सकने वाली संभावित सैन्य कार्रवाई की तरफ इशारा माना जा रहा है।

भाजपा बंगाल के खिलाफ साजिश कर रही है

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ममता ने यह भी कहा, ‘मैं अपने राज्य के लोगों को जानती हूं। बंगाल के लोगों के लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है, लेकिन भाजपा उनके प्रति अनादर दिखा रही है। उन्होंने मेरे और बंगाल के खिलाफ साजिश की है, लेकिन यह उन पर उल्टा पड़ेगा।’ पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में ममता ने कहा कि, ‘7 चरणों में मतदान की घोषणा सिर्फ बिहार, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश के लिए की गई है, जो यह तय करने में अहम भूमिका निभाएंगी कि केंद्र में अगली सरकार किसकी बनेगी। बंगाल की कुल 42 लोकसभा सीटों के लिए तृणमूल कांग्रेस, माकपा की अगुवाई वाले वाम मोर्चा, कांग्रेस और भाजपा के बीच मुकाबला होगा।’ तृणमूल कांग्रेस नेताओं का यह भी कहा है कि रमजान के पवित्र महीने के दौरान मतदान होने से रोजा रखने वाले मुस्लिम वोटरों को दिक्कतें पेश आएंगी।

ममता की बेबुनियादी आरोप लगाने की आदत है

वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि, ‘बेबुनियाद आरोप लगाना उनकी आदत है, वे हवा में बातें करती हैं। यदि उनके पास सबूत है तो उन्हें इसे सार्वजनिक करना चाहिए।’ गौरतलब है कि पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों की शहादत और उसके बाद भारतीय वायुसेना की ओर से बालाकोट (पाकिस्तान) में किए गए हवाई हमले को लेकर ममता ने नरेंद्र मोदी सरकार पर ‘युद्ध उन्माद’ पैदा करने का आरोप लगाया था। उस समय ममता ने यह भी कहा था कि, ‘जवानों की जिंदगी चुनावी राजनीति से कहीं ज्यादा कीमती है, लेकिन देश को जानने का हक है कि वायुसेना के हमले के बाद बालाकोट में दरअसल क्या हुआ?’

Tag In

#loksabha-chunav #loksabhachunav2019 #matma #ममता बनर्जी bjp loksabha loksabha election loksabha session loksabha-2019 mamta mamta banerjee

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *