लोकसभा ने रच दिया इतिहास, 18 साल में पहली बार अर्धरात्रि तक चली संसद की कार्यवाही

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। गुरूवार को लोकसभा में वर्ष 2019-20 के लिए रेल मंत्रालय के नियंत्रणाधीन अनुदानों की मांगों पर देर रात तक बैठकर चर्चा की। बता दें कि निचले सदन में चल रही ये बैठक गुरूवार दोपहर से शुरू होकर रात्रि 11:58 मिनट तक चली। इस दौरान आधी रात तक चली इस बैठक में लगभग 100 सदस्य मौजूद रहे है। इसी के साथ लोकसभा में ये एक ऐसा काम हो गया जो कि 21वीं सदी के लिए एक इतिहास बन गया।

संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी के मुताबिक, लोकसभा में बीते 18 साल में पहली बार इतनी देर तक कार्यवाही हुई। साथ ही संसदीय कार्यमंत्री ने सदन की कार्यवाही इतनी रात तक चलाने के लिए लोकसभा अध्यक्ष के प्रति आभार प्रकट किया। बैठक के दौरान कांग्रेस, तृणमूल सहित अन्य विपक्षी दलों ने मोदी सरकार पर रेलवे को निजी हाथों में बेचने का आरोप लगाया।

बहरहाल केन्द्र सरकार ने विपक्षी के आरोपों को खारिज करते हुए बताया कि रेलवे प्रतिदिन नए प्रतिमान और कीर्तिमान स्थापित कर रहा है तथा पिछले कुछ वर्षों में सुरक्षा, सफाई, सुगमता, सुविधाएं और समय की बचत आदि हर क्षेत्र में सुधार हुआ है। इसी के साथ अब सरकार का जोर रेलवे में वित्तीय अनुशासन लाने पर है। साथ ही बता दें कि चर्चा में मौजूद सदस्यों ने इस दौरान अपने अपने क्षेत्रों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की।

Tag In

#debate #first_time_in_18_years #Lok_Sabha #midnight #railway_ministry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *