rahul gandhi

वायनाड सीट पर कांग्रेस का रहा है दबदबा

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज डेस्क अशोक योगी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी के साथ केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ने का घोषणा कर चुके हैं। वायनाड में राहुल का सामना एनडीए उम्मीदवार तुषार वेल्लापल्ली से होगा। यह जानकारी बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दी। तुषार ‘भारत धर्म जन सेना’ पार्टी के अध्यक्ष हैं। उधर, सीपीआइ ने इस सीट से पीपी सुनीर को उम्मीदार घोषित किया है।

गौरतलब है कि तुषार, वेल्लापल्ली नतेसन के बेटे हैं जो ‘श्री नारायण धर्म परिपालन योगम’ के महासचिव हैं। ये संस्था केरल के एझावा समुदाय के लिए काम करती है, एझावा समुदाय,ओबीसी में आता है, जो बीजेपी के पारंपरिक वोटर माने जाते हैं.कांग्रेस की सेफ सीट है वायनाड?

वायनाड सीट पर कांग्रेस का सौ फीसदी कामयाबी का इतिहास रहा है। ये सीट 2008 के डिलिमिटेशन के बाद बनी। इसे कन्नूर, मलाप्पुरम और वायनाड लोकसभा सीटों को मिलाकर बनाया गया. 2008 के बाद हुए दोनों चुनावों में यहां कांग्रेस जीती। दोनों ही बार कांग्रेस के एमआई शनवास जीते और दोनों बार CPI हारी। 2018 में शनवास का निधन हो गया और तब से ये सीट खाली है. 2009 के चुनाव में कांग्रेस को यहां डेढ़ लाख से ज्यादा मतों से जीत मिली थी. जीत 2014 में भी मिली लेकिन जीत का अंतर सिमटकर महज 21 हजार के करीब रह गया। वही वोट परसेंटेज की बात करें तो कांग्रेस को 41 फीसदी और सीपीआइ को 39 फीसदी वोट मिले। बीजेपी 2009 में चौथे और 2014 में तीसरे नंबर पर रही थी।

केरल के वायनाड सीट पर कांग्रेस का काफी दबदबा रहा है। कांग्रेस नेता एमआई शनवास पिछले दो बार से चुनाव जीत चुके हैं और यहां बीजेपी रेस में भी नहीं रही है। गौरतलब है कि यह सीट कन्नूर, मलाप्पुरम और वायनाड संसदीय क्षेत्रों को मिलाकर बनी है।

Tag In

#congress 2019 #congress loksabha #congresss #loksabha-chunav #loksabhachunav2019 #rahuk gandhi rahul rahul gandhi rahul ghandhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *