priyanka

वाराणसी से प्रियंका के चुनाव लड़ने पर राहुल का वीटो, बड़े नेताओं को न हराने का दिया तर्क

लोकसभा 2019,

ले पंगा न्यूज। देवेन्द्र कुमार। वाराणसी से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के चुनाव लड़ने पर संशय अभी भी बना हुआ है। लेकिन राहुल ने जो कहा है उससे प्रियंका की मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की जो उम्मीद है वो कम होती नजर आ रही है। बता दें कि राहुल ने कहा है कि नेहरू, शास्त्री और इंदिरा के समय तक यह परम्परा रही है कि बड़े विपक्षी नेताओं को जबरन हराने की कोशिश नहीं कि जाए। हमेशा कोशिश रहे की वो (विपक्ष का बड़ा नेता) जीतकर संसद में आएं। इससे लोकतंत्र को मज़बूती मिलेगी और लोकतंत्र स्वस्थ रहेगा।

हेमवती नंदन को अमिताभ बच्चन से हरवाकर गलत किया था

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि राजीव गांधी के वक्त हेमवती नंदन बहुगुणा को अमिताभ बच्चन से हरवाकर गलत परम्परा शुरू की गई थी। उस वक़्त और भी कई जगह ऐसा हुआ, लेकिन 1989 और 1991 में राजीव जी ने भी फिर से बदलाव किया और परम्परा को कायम रखा।

लेकिन प्रियंका मोदी के खिलाफ लड़ना चाहती हैं चुनाव

प्रियंका गांधी ने राहुल की इस बात पर सहमति जताई लेकिन यह भी कहा कि मोदी कांग्रेस मुक्त भारत की बात करते हैं और विचारधारा के मतभेद को खत्म करना चाहते हैं। राजनीतिक विरोधियों को व्यक्तिगत दुश्मन समझते हैं। इसीलिए उनको बनारस में ही जाकर घेरना चाहिए। इस पर राहुल ने कहा कि मोदी की अपनी राजनीति हैं। हमें उनके रास्ते पर नहीं चलना चाहिए। माना जा रहा है कि प्रियंका के वाराणसी से चुनाव लड़ने पर अंतिम फैसला यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व प्रियंका मिल कर लेंगे। तीनों जल्द ही इस विषय पर बैठक कर सकते हैं।

प्रियंका के साथ घूमने वाली शालिनी सपा के टिकट पर मोदी को देगी टक्कर

सपा के टिकट पर शालिनी यादव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनावी ताल ठोकेगी। शालिनी यादव पूर्व केंद्रीय मंत्री की बहू हैं। बता दें कि शालिनी प्रियंका गांधी की करीबी मानी जाती है। कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने जब प्रयागराज से काशी का दौरा किया था तो उस समय भी शालिनी उनके साथ थी। गौरतलब है कि शालिनी कांग्रेस के टिकट पर मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहती थी लेकिन उनको टिकट नहीं दिया गया। टिकट नहीं मिलने पर शालिनी कांग्रेस छोड़ सपा में शामिल हो गई।

बता दें कि शालिनी के ससुर श्याम लाल यादव कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे हैं। श्याम लाल का कभी गांधी परिवार से सीधा सरोकार हुआ करता था। इसलिए कहा जाता है कि शालिनी को सियासत विरासत में मिली है। इसी कारण कांग्रेस ने वाराणसी सीट से 2017 में शालिनी यादव को मेयर का टिकट दिया था।

Tag In

#bjp 2019 #congress 2019 #congress loksabha #congresss #Loksabha Elections 2019 #loksabha-saabha-chunav #loksabhachunav2019 priyanka Priyanka Gandhi rahul gandhi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *