शी जिनपिंग को डिनर में परोसा गया केरल का ये स्वादिष्ट मिष्ठान, ऐसी रही पीएम मोदी और जिनपिंग की मुलाकात

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। शुक्रवार को भारत के दौरे पर आए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के लिए रात्रि भोजन का आयोजन किया गया। भारत आए चीनी मेहमान के लिए उनकी पसंद और भारत के स्वादिष्ट व्यंजन की पहचान के हिसाब से उनके खाने की विशेष व्यवस्था की गई। शी जिनपिंग के लिए भोजन में दक्षिण भारत के व्यंजनों को शामिल किया गया। चीनी राष्ट्रपति के रात्रि भोजन में चीनी खान पीन की आदतों के हिसाब से मांसाहारी खाना भी शामिल किया गया। मिली जानकारी के अनुसार शी जिनपिंग के शानदार रात्रि भोजन में टमाटर से बनी थक्‍कली रसम, इमली, कदलाई कुरुमा और मिष्ठान में हलवा और अदा प्रधामन (केरल का मिष्ठान) समेत पीसी हुई दाल, विशेष मसालों और नारियल से तैयार की जाने वाली ‘अराचु विट्टा सांभर’, सांभर मेन्यू में शामिल था।

प्रधानमंत्री मोदी ने रात्रि भोज के वक़्त तमिलनाडु की पारपंरिक वेशभूषा वेष्टि (धोती), सफेद कमीज और अंगवस्त्रम धारण कर रखे थे। पीएम मोदी ने अच्छे मेजबान की भूमिका निभाते हुए शी को इस प्राचीन शहर की विश्व प्रसिद्ध धरोहरों अर्जुन तपस्या स्मारक, नवनीत पिंड (कृष्णाज बटरबॉल), पंच रथ और शोर मंदिर के दर्शन कराए और हमारी धरोहरों की महानता बताई। शी और मोदी के बीच दो दिवसीय औपचारिक शिखर वार्ता तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई से करीब 50 किलोमीटर दूर स्थित मामल्लापुरम में शुक्रवार को आरंभ हुई। चीन के फुजियांग प्रांत के साथ ऐतिहासिक रूप से जुड़े इस तटीय शहर के विरासत स्थल में प्रसिद्ध गुफाओं एवं पत्थर की मूर्तियों में राष्ट्रपति शी भी काफी रुचि लेते दिखे।

पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी पंच रथ परिसर में करीब 15 मिनट बैठे। दोनों नेताओं ने शोर मंदिर के पास नृत्य कार्यक्रम का लुत्फ़ उठाया। प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति जिनपिंग को यूनेस्को की विश्व धरोहरों में शामिल 16.5 वर्ग किलोमीटर में स्थित इस प्राचीन विरासत की प्रसिद्ध जगहों पर ले गए। दोनों नेताओं के बीच यह दूसरी अनौपचारिक मुलाकात है। पहली अनौपचारिक बैठक वुहान में हुई थी। इससे पहले जिनपिंग का चेन्नई एयरपोर्ट पर भी स्वागत किया गया। दोनों नेताओं के बीच क़रीब 40 मिनट तक वन टू वन मीटिंग हुई। शी जिनपिंग का यह दौरा क़रीब 48 घंटे का है।

Tag In

#India #Jinping #mamallapuram #PMMODI #pmnarendra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *