शुभ मुहूर्त में जो लोग घट स्थापना नहीं कर सके तो इन उपाय का करे प्रयोग

शुभ मुहूर्त में जो लोग घट स्थापना नहीं कर सके तो इन उपाय का करे प्रयोग

धर्म,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। आज से चैत्र नवरात्रि का शुभारंभ हो गया है। माँ भगवती की आराधना सूक्ष्मता से भी की जा सकती है। प्रतिपदा के शुभ मुहूर्त में जो लोग घट स्थापना नहीं कर पाते या किसी व्यस्तता की वजह से घट स्थापन नहीं कर पा रहे हो उनके लिए हम यहाँ कुछ उपाय बता रहे हैं। साथ ही श्री दुर्गा सप्तशती के पाठ की भी सूक्ष्म प्रक्रिया बता रहे हैं।

सूखे नारियल का जलीय के साथ करें स्थापित

आप जलीय के साथ ही सूखे नारियल से भी स्थापना कर सकते हैं। कलश में गंगा जल के छीटें लगाकर सवा मुट्ठी पीले चावल, 3 या 5 लोंग के जोड़े, एक सुपारी,  दो हल्दी की गांठ, काले तिल, जौ, एक सिक्का रखकर प्रतिष्ठित कर सकते हैं। मनोकामना पूरी होगी। यह कलश 6 महीने यानी शारदीय नवरात्र तक यूँ ही रहने दें। एक सुपारी और 3 लौंग के जोड़े किसी पात्र में करके भगवती के आगे रख दें। कलश स्थापना का ही फल मिलेगा। जलीय कलश स्थापना के साथ बहुत से प्रतिबंध होते हैं। इन पर प्रतिबंध नहीं होते।

ग्रह शान्ति और नव संवत मंत्र

विक्रमी संवत 2076 का शुभारंभ भी कल से हो रहा है। इस वर्ष के राजा शनि देव और मंत्री सूर्य देव हैं। इसलिये पहले दिन से एक एक माला के 9 जाप कर सकते हैं..

ॐ शं शनैश्चराय नमः ॐ दुं दुर्गायै नमः

दुर्गा पाठ

.1. सिद्ध कुंजिका स्त्रोत 3 बार करने से सम्पूर्ण दुर्गा सप्तशती  का ही फल

2. यह पांच पाठों की एक कड़ी है। देवी कवच, अर्गला, कीलक, सप्त श्लोकी दुर्गा और देवी सूक्तम।

3. इसमें नव दुर्गा आराधना है। सप्त श्लोकी दुर्गा, अर्गला और सिद्ध कुंजिका। ये 3 पाठों की कड़ी है।

आप इसका उपाय का करें प्रयोग

विद्या और साहित्य साधकों के लिये एक मंत्र। नियम यह कि जाप स्फटिक की माला से होंगे। प्रथम दिन 3 या 5 माला। फिर एक एक। मंत्र है..

ॐ ऐं ॐ

कलश स्थापना का अमृत चौघड़िया मुहूर्त

ज्योतिष संस्थान के अनुसार वर्ष 2019 में चैत्र नवरात्र 06 अप्रैल से प्रारम्भ होकर 14 अप्रैल 2019 दिन रविवार को प्रातः 6 बजे तक नवमी तत्पश्चात दशमी तिथि तक होगा। संवत्सराम्भ एवं पक्षारम्भ 6 अप्रैल 2019 दिन शनिवार को ही प्रतिपदा तिथि सूर्योदय से दोपहर 02:58 बजे तक होगा। 06 अप्रैल से ही वासन्तिक नवरात्र की शुरुआत होगी । 05 अप्रैल दिन शुक्रवार को दोपहर 01 बजकर 36 मिनट पर  प्रतिपदा तिथि लग रही है जो अगले दिन 6 अप्रैल को दोपहर 02:58 बजे तक रहेगी, इसके बाद द्वितीया तिथि लग जायेगी। अतः उदया तिथि के कारण नवरात्र का आरम्भ 06अप्रैल दिन शनिवार से ही माना जायेगा।

Tag In

#April In HindiNavratri 2019 #April DateNavratriChaitra #Navratri Date 2019 #April Start DateNavratri 2019 #AprilNavratri 2019 #Chaitra Navratri 2019 #Chaitra Navratri 2019 #DateChaitra Navratri 2019 #DatesChaitra Navratri Date In IndiaNavratri 2019 #DateNavratri 2019 #Chaitra Navratri Shubh Muhurat #Haitra Navratri #Navratri 2019 #Navratri Kalsh #Sthapana Shubh Muhurat #Start Date Navratri 2019 Chaitra Navratri

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *