सतर्क रहो, कभी भी ठगे जा सकते हो!

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, चंदना पुरोहित। साइबर क्राइम का नया रूप सामने आया है। बड़ी चालाकी और आसानी से लोगों को ठगा जा रहा है। साइबर विशेषज्ञों के अनुसार हैकर्स पहले फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं। फिर आगे डाटा विश्लेषण करते हैं और आगे की बात शुरु करते हैं। फेसबुक पर लाइक किए गए पेज से हमारी इंटरेस्ट का पता लगाया जाता हैं। फिर चेक इन, टैग से यूजर के पसंद और व्यवहार का पता लगाते हैं। फिर यूजर से चैटिंग कर उसका विश्वास जीतते हैं और फिर किसी भी आपातस्थिति का हवाला देकर पैसे ऐंठना शुरू करते हैं हैकर्स यूज़र से अपने पेपल अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करते हैं और फिर फेसबुक अकाउंट डिलीट कर देते हैं। इस तरह सोशल मिडिया के जरिए लोगों को ठगा जा रहा है। राजस्थान में पाकिस्तान, रूस, अमेररका, नीदरलैंड, नाइजेरिया के ठग सक्रीय हैं।

हाल ही में नाइजेरिया के 4 ठगों को गिरफ्तार किया गया है। इस ठग के तरीके को सोशल इंजिनीरिंग के नाम से जाना जाता है। इन ठगों से बचने के लिए कुछ सावधानियाँ बरतने की आवश्यकता है। सावधानी के साथ ही हमें सतर्क भी रहना चाहिए। इसके लिए हम यह कर सकते हैं की अपने फेसबुक अकाउंट पर हु कैन सेंड मी फ्रेंड रिक्वेस्ट को फ्रेंड्स ऑफ़ फ्रेंड रखे ,पोस्ट प्राइवेसी को फ्रेंड्स तक सिमित रखे, फ्रेंड रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट करने से पहले आईडी की पड़ताल कर लें,हर जगह साइन इन न करें, स्टेप वेरिफिकेशन हमेशा चालू रखे। विशेषज्ञों के अनुसार इन कुछ स्टेप्स को फॉलो करने पर ऐसी ठगी से बचा जा सकता है।

यह साइबर क्राइम अपराधी अपने पैसे ऐसे देशों में डालते हैं जिनसे भारत के संबंध अच्छे ना हो। इसलिए उन्हें पकड़ पाना मुश्किल हो जाता है। यह पैसे वह पेपल से ट्रांसफर करते हैं। पेपल से किसी भी देश में तुरंत पैसे ट्रांसफर किए जा सकते हैं। इसमें मुद्रा को बदलवाने की आवश्यकता नहीं होती। ट्रांसफर के समय की रेट के अनुसार वह रकम खुद ही परिवर्तित हो जाती है। इसलिए सतर्क रहना जरुरी है।

Tag In

#फेसबुक #साइबरक्राइम #हैकर्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *