सूद अज़हर को ग्लोबल आतंकी घोषित में चीन बना रोड़ा

सूद अज़हर को ग्लोबल आतंकी घोषित में चीन बना रोड़ा

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, अशोक योगी। आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के सरगना मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के भारत के प्रयास में चीन रोड़ा बन गया है। चौथी बार चीन ने मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर वीटो का प्रयोग किया है। मसूद अज़हर पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड है और फ़िलहाल पाकिस्तान में है। पुलवामा हमले में भारत के 40 से ज़्यादा जवान शहीद हो गए थे। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने इस हमले की कड़ी निंदा की थी। जैश सरगना मसूद अज़हर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने में इसके साथ ही ये प्रस्ताव रद्द हो गया है। चीन की इस हरकत के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि जब तक आतंकियों के खिलाफ पाकिस्तान कार्रवाई नहीं करता है, तब तक कोई बातचीत नहीं होगी।

भारत ने पेश किया सबूत

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चीन इस बात पर अड़ा है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और मसूद अजहर का आपस में कोई संपर्क नहीं है। चीन की दलील है कि पहले भी मसूद के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले। ले पंगा को मिली जानकारी के मुताबिक भारत ने मसूद के खिलाफ सबूत के तौर पर वो टेप्स दिए हैं, जो मसूद और जैश के कनेक्शन को साबित करते हैं। संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद को सौंपे गए डोजियर में भारत ने मसूद के खिलाफ सबूत दिए हैं। सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य चीन ने अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन के जरिए लाए जा रहे प्रस्ताव में अड़ंगा लगा दिया। इधर, भारत ने अमेरिका, फ्रांस के साथ पुलवामा आतंकी हमले के कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज़ शेयर किये हैं, ताकि मसूद के खिलाफ़ संयुक्त राष्ट्र में पुख्ता सबूत पेश किये जा सकें। चीन ने मसूद के खिलाफ़ और सबूत मांगे हैं। इधर, इस बार बीसियों सबूत जुटाकर हिंदुस्तान ने यूएन से उसे ग्लोबल आतंकी घोषित करने की अपील की है, लेकिन चीन का कहना है कि पहले भारत के दावे की पड़ताल की जानी चाहिए।

इमरान मसूद अजहर को हमें सौंपें: सुषमा स्वराज

चीन की उदारता के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि पाकिस्तान जब तक अपनी जमीन से संचालित आतंकी अड्डों पर कोई कार्रवाई नहीं करता, तब तक उससे कोई बातचीत नहीं की जाएगी। उन्होंने बातचीत व आतंकवाद के साथ-साथ नहीं चलने की बात पर जोर देते हुए कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अगर इतने ही उदार हैं तो मसूद अजहर को हमें सौंप दें।

US ने आतंकी मसूद की ढाल बने चीन को चेताया

भारत का दुसरा पड़ोसी देश चीन एक बार फिर आतंकी मौलाना मसूद अजहर के साथ हो गया है। संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा समिति की बैठक में चीन ने अपने वीटो पावर का प्रयोग कर भारत की कोशिशों पर पानी फेर दिया है, जिसके बाद भारत ने कठोर आपत्ति दर्ज कराई है। जिसके बाद अमेरिका भी भारत के साथ आ गया है। अमेरिका की ओर से यूएनएससी में कड़ा बयान दिया गया कि अगर चीन लगातार इस तरह की अड़चन बनता रहा, तो जिम्मेदार देशों को कोई और कदम उठाना पड़ेगा।

Tag In

#indiasurgicalstrikenews #UNSC china india pakisthan sushma swaraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *