हमने भी खोया दादी-पिता को, समझते हैं दर्द

एयर स्ट्राइक,

ले पंगा न्यूज़ डेस्क । पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर अंजाम दिये गये फिदायीन आतंकी हमले में शहीद जवानों को अंतिम विदाई दी जा चुकी है। हर कोई शहीद के परिवार का दुख बांटने उनके घर पहुंच रहे हैं।

वहीं बात की जाए सियासी नुमाइंदों की तो एक तरफ पीएम नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित कई बीजेपी नेता चुनावी रैलियां और दौरे करने के अलावा आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों के चलते गठबंधन के समीकरण बैठाने तक में व्यस्त हैं, तो वहीं आंतकवाद का दंश झेल चुके कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शहीदों के परिवारों से मिलकर उन्हें दिलासा देने पहुंच रहे हैं।

इस अवसर पर राहुल गांधी ने यह भी कहा कि हमनें भी अपनी दादी-पिता को खोया है, हम आपका दर्द समझते हैं। शहीदों के घर पहुंच बंधवाया ढांढस, कहा – हमने खेला दंश, समझते हैं दर्दकांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पुलवामा आतंकी हमले में शहीद सीआरपीएफ जवान अमित कुमार कोरी और प्रदीप कुमार प्रजापति के घर श्रद्धाजंलि देने और ढांढस बंधवाने शामली पहुंचे। कांग्रेस नेताओं ने यहां शहीद की याद में आयोजित शोकसभा को संबोधित भी किया।

इस मौके पर प्रियंका गांधी ने कहा कि हमने खुद भी ऐसा ही कुछ देखा है, इसलिए हम पूरी तरह से समझ सकते हैं कि आप पर क्या गुजर रही है। साथ ही कहा कि अब हम यह नहीं चाहते कि आप खुद को अकेला समझें, हम आपकी देखभाल करेंगे, पूरा देश आपके साथ है, हम आपके साथ हैं। जिन्होंने देश के लिए अपना बलिदान दे दिया उनके प्रति हम अपनी श्रद्धांजलि और आदर समर्पित करते हैं।हमनें भी खोया अपना पिता, अच्छी तरह समझता हूं आपका दुख – राहुलइस अवसर पर यहां आयोजित शोकसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि, “हमें ऐसे शहीद के परिवार पर गर्व है, जिसने अपनी सारी कमाई अपने बेटे को पढ़ाने-लिखाने पर खर्च की और बेटे ने अपना दिल, अपना शरीर देश की सेवा में दे दिया।’ राहुल ने कहा कि दुनिया में कोई भी शक्ति नहीं है जो इस देश को बांट पाए, डरा पाए, पीछे हटा पाए. यह वीरों का देश हैं और शहीदों ने इसका उदाहरण दिया है।

उन्होंने कहा कि हम पूरे देश की ओर से आपको, आपके परिवार को, आपके वीर बेटे को धन्यवाद करते हैं।  शोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शहीद के पिता को संबोधित करते हुए कहा कि हम आपके साथ हैं और आपका हाथ पकड़कर साथ बैठना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि CRPF के जितने भी जवान शहीद हुए हैं हम उनके परिवार के साथ खड़े हैं।  राहुल गांधी बोले कि, ‘मैं इस दुख से भलीभांति परिचित हूं क्योंकि मेरे पिता साथ भी ऐसा हादसा हुआ था। मैंने अपने पिता को खोया है ओर मैं इस दुख को अच्छी तरह से समझता हूं।’ बता दें कि, बीते गुरूवार को पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर किये गये आत्मघाती आतंकी हमले में देश ने 40 से ज्यादा जवानों को खो दिया। देश इन शहीदों का बदला लेने की लगातार मांग कर रहा है। इन शहीदों में शामिल 92वीं बटालियन में कांस्टेबल पद पर तैनात अमित कुमार 2 साल पहले CRPF में भर्ती हुए थे। पांच भाइयों में सबसे छोटे 21 साल के अमित की अभी शादी भी नहीं हुई थी। राहुल गांधी और प्रियंका के अलावा यहां शोक सभा में  यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर और पश्चिमी यूपी के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया शरीक होने के लिए पहुंचे थे।

Tag In

#राहुल गांधी crpf कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जैश-ए-मोहम्मद पीएम नरेन्द्र मोदी भाजपा अध्यक्ष अमित शाह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *