आज ही के दिन भारत ने दुनिया में लहराया था परमाणु शक्ति का परचम

Uncategorized,

 

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। भारतवासियों के लिए आज का दिन बहुत खास है। 18 मई की तिथि भारतीयों के लिए एक खास तिथि है। आज ही के दिन भारत ने दुनिया में अपनी परमाणु शक्ति का लोहा मनवाया था।

गौरतलब हैं कि आज से 45 साल पहले यानी कि 18 मई 1974 को भारत ने विश्व में शांति व्यवस्था के लिए देश का पहला भूमिगत परीक्षण किया ​था। बता दें कि उस समय किया गया ये कार्यक्रम शांतिपूर्ण कार्यो के लिए किया था। लेकिन बाद में इस कार्य ने भारत को ऊर्जा के ​क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बना दिया। जिस समय राजस्थान के पोखरण में शांति व्यवस्था के लिए ये विस्फोट किया गया था। उस समय भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी थी। पीएम इंदिरा गांधी ने उस समय इस विस्फोट को स्माइलिंग बुद्धा का नाम दिया था।

पीएम इंदिरा गांधी ने स्माइलिंग बुद्धा नाम इसलिए दिया, क्योंकि इस दिन देश बुद्ध पूर्णिमा का त्यौहार मना रहा था। बता दें कि बुद्ध पूर्णिमा का त्योहार केवल बौद्ध धर्म के लोग ही नहीं मनाते बल्कि इसे पूरे भारत वर्ष के लोग भी बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ मनाते है। साथ ही बता दें कि कई सालों बाद आज भी 18 मई को बुद्ध पूर्णिमा का त्योहार है।

गौरतलब हैं कि पोखरण विस्फोट के लिए राजस्थान के जैसलमेर जिले से 140 ​किलोमीटर दूर लोहारकी नामक गांव के पास मलका गांव में एक सूखे कुएं में पहला परमाणु परीक्षण किया गया था। उसके बाद कुंओं को बालू रेत से कवर कर ​दिया और उसमें से तार निकाल दिए गए। उसके बाद धमाका किया गया। इस गौरवशाली पल का दृश्य आज भी अपनी कहानी बंया करता है।

बाद भारत के 10वें प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी ने भी अहम भूमिका निभाई। पीएम अटल बिहारी वाजपेयी 20 मई को बुद्ध स्थल पहुंचे। प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी ने उस दिन देश को एक शानदार नारा दिया। उन्होंने देश को ‘जय जवान-जय किसान-जय विज्ञान’ का नारा दिया।

साथ ही आपको एक ओर अच्छी बात बता दें कि अटल सरकार के समय दिनांक 11, 13 मई 1998 को पोखरण में पॉंच भूमिगत परमाणु परीक्षण विस्फोट किए गए। इस विस्फोट के बाद भारत परमाणु शक्ति से संपन्न वाला देश बन गया। अटल बिहारी की सरकार में ये परमाणु विस्फोट इतनी गोपनीयता से किया गया कि इस बात की खबर विकसित किए गए जासूसी उपग्रहों को भी नहीं लगी। उसके बाद भारत विश्व मानचित्र में एक सुदृढ वैश्विक शक्ति के रूप में स्थापित हो गया।

Tag In

18 may indira gandhi parmanu bomb

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *