देवउठनी एकादशी स्पेशल : भूलकर भी इस दिन ना करें ये काम नहीं तो…

धर्म,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। कार्तिक माह में हिन्दूओं के कई बड़े त्यौहार आते है। उन्हीं में से एक है देवउठनी एकादशी। देवउठनी एकादशी हिंदूओं के प्रमुख त्योहारों में से एक है। कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवउठनी, देवोत्थान या प्रबोधिनी एकादशी कहा जाता है। ऐसी मान्यता है कि क्षीर सागर में चार महीने की योगनिद्रा के बाद भगवान विष्णु इस दिन उठते हैं। बता दें कि इस बार प्रबोधिनी या देवउठनी एकादशी 08 नवंबर को पड़ रही है। इसी के साथ कल से मांगलिक कार्यों की शुरूआत हो जाएगी।

इस दिन तुलसी विवाह की भी परंपरा है। भगवान शालिग्राम के साथ तुलसीजी का विवाह होता है।तुलसी-शालिग्राम विवाह कराने से पुण्य की प्राप्ति होती है, दांपत्य जीवन में प्रेम बना रहता है। देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से परिवार पर भगवान की विशेष कृपा बनी रहती है। इसके साथ ही मां लक्ष्मी घर पर सदैव धन, संपदा और वैभव की वर्षा करती हैं।

बता दें कि तुलसी भगवान विष्णु को बहुत पसंद है। इस दिन भगवान विष्णु के जो भी प्रसाद चढ़ाएं उसमें तुलसी के पत्ते जरूर डाले। इससे भगवान विष्णु प्रसन्न होते है और आपके सामने आ रही सारी परेशानियां जल्द ही समाप्त होती है।

आज कार्तिक शुक्ल पक्ष नवमी और मंगलवार को बन रहा है ये संयोग, इन दो राशियों के लिए होगा खास!

साथ ही बता दें कि एकादशी के दिन चावल नहीं खाना चाहिए। इस दिन ​भूलकर भी मादक पदार्थों के अलावा मासांहारी खाना खाने से बचना चाहिए। इस दिन घर में किसी भी प्रकार का लड़ाई झगड़ा नहीं करना चाहिए।

Tag In

#devuthaniekadshi #devuthaniekadshi2019 #ekadashi #tulsi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *