सावन स्पेशल : भूलकर भी शिव पूजा में शामिल न करें ये चीज, नहीं तो…

धर्म,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। कल पूरे भारतवर्ष में गुरू पूर्णिमा बहुत धूम धाम से मनाई गई। गुरू पूर्णिमा के अगले दिन से यानी कि आज बुधवार से एक महीने का सावन मास शुरू हो गया है। 17 जुलाई से शुरू हुआ सावन मास का 15 अगस्त को अंतिम दिन होगा। ऐसा कहा जाता है कि जो भक्त इस महीने में माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा करते हैं उन्हें भोले बाबा की असीम कृपा मिलती है।

बता दें कि महीने भर चलने वाला सावन मास के लिए शिवालयों में साज सजावट के साथ सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। सावन मास में सुबह जल्दी ही भक्त अपने भगवान को खुश करने के लिए मंदिरों में लंबी कतारों में नजर आते है। सावन मास को वर्ष का सबसे पवित्र महीना माना जाता है। इसी बीच बता दें कि सावन के महीने में पूजापाठ के साथ ही कुछ नियम भी होते हैं, जिनको विशेष प्रकार से ध्यान रखना चाहिए तो आइए नजर डालिए…

बिल्व पत्र: भगवान भोलेनाथ की पूजा में बिल्व पत्र भी बहुत अहम है। शिवजी पर कभी भी टूटे या छेद हुए बिल्व पत्र कभी नहीं चढ़ाने चाहिए।

हल्दी: सावन में होने वाली शिवजी की पूजा में हल्दी का प्रयोग बिल्कुल भी ना करें।

बैंगन से दूरी: जो भी व्यक्ति पूरे एक महीने सावन करते है उन्हें भूलकर भी बैंगन की सब्जी नहीं खानी चाहिए। सावन के महीने में बैंगन खाना वर्जित बताया गया है।

जल्दी उठे: सावन माह में देर तक ना सोए। सुबह जल्दी उठकर शिवालय में जाकर भोलेनाथ की पूजा करें।

Tag In

#sawan #sawan_2019 #shiva

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *