जानिए, क्यों पिता ने तीन मासूम बेटियों के साथ दी अपनी जान

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, प्रियंका शर्मा। महगांई और बेरोजगारी ने इंसान को इतना ज़्यादा मजबूर कर दिया है कि उसके पास कोई जीने का विकल्प ही शेष नहीं रहा है जी हाँ आर्थिक तंगी ने एक पिता को इस कदर तोड़ कर रख दिया है कि वो अपने ही बच्चों के जीवन का तारणहार होने के जगह प्राणहर्ता बन गया । … एक तरफ़ तो प्रशासन विकसित भारत, डिजिटल इंडिया बनाने की कई बड़ी-बड़ी बाते करता है और दूसरी तरफ़ हमारा देश भूख, बेरोजगारी, महगाई, आर्थिक तंगी से इतना प्रभावित है कि एक पिता खुद के जीवन को अपने ही हाथों से लील देता है, कैसे एक पिता ने अपने से ही जन्मी संतान को जहर देकर मारा होगा, कैसे इस कर्त्य को अपने ही हाथों से खुद अंजाम दिया होगा, क्या बीत रही होगी उसपर, उस वक्त, यह हम और आप लोग शायद कल्पना भी न कर पाए, एक आम आदमी कितना मजबूर रहा होगा जब उसने यह रास्ता चुना होगा, खेर राजनेताओँ को इससे क्या, बड़े-बड़े आलाकमान को भी इससे क्या, उन्हें तो सिर्फ अपनी सत्ता अपनी कुर्सी के ऐशो-आराम से मतलब है, चुनाव में वोट के समय तो सरकार बड़े -बड़े वादे करके स्वंय के भोग के लिए तो सत्ता में आ जाती है, पर पाँच सालों में किसी गरीब, हताश की सुध लेना जैसे भूल ही जाती है… जी हाँ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक बाप ने अपनी तीन बेटियों के साथ जहर खाकर जान दे दी है. इस खुदकुशी की वजह आर्थिक तंगी बताई जा रही है. मृतक दीपक गुप्ता वाराणसी के लक्सा थाने के नई सड़क गीता मंदिर इलाके का रहने वाला था.

बता दे कि, जब दीपक गुप्ता ने अपनी 9 वर्षीय बेटी नव्या, 7 वर्षीय अदिति और 5 वर्षीय रिया के साथ आत्महत्या की, तो उस वक्त उसकी पत्नी घर पर नहीं थी. दीपक गुप्ता ने अपनी पत्नी को पीटकर मायके भेज दिया था. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. पुलिस का कहना है कि खुदकुशी की वजह की जांच की जा रही है.

दरअसल जब रिश्तेदारों को दीपक गुप्ता के जहर खाने की जानकारी मिली, तो उनको फौरन अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चारों ने ही दम तोड़ दिया. उधर, बीती रात हुई इस सनसनीखेज घटना से पूरा बनारस स्तब्ध है.

गौरतलब है कि यह घटना उस समय सामने आई है, जब देश में लोकसभा चुनाव हो रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अंतिम चरण में 19 मई को वोट डाले जाएंगे. यहां से भारतीय जनता पार्टी के टिकट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूसरी बार ताल ठोंक रहे है. पिछली बार भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां से लोकसभा चुनाव जीता था और पहली बार संसद तक पहुंचे थे.

Tag In

#suicide #Uttar pradesh #Varanasi #Father #three daughter

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *