इस कारण ममता बनर्जी शामिल नहीं होगी पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में…

राजनीति,

ले पंगा न्यूज डेस्क, प्रियंका शर्मा। लोकसभा चुनावों के दौरान विपक्षियों और मोदी सरकार में खूब गहमागहमी हुई एक दूसरे पर कड़े आरोप-प्रत्यारोप हुए जिससे बीते कुछ दिनों में राजनीती का स्तर इतना नीचे गिराया था कि हर जन एक स्वच्छ सरकार का चेहरा तक नहीं देख पा रही थी। हर तरफ़ नेता लोग राजनीति में बने रहने के लिए किसी भी तरह का बयान निरंतर देते जा रहे थे पर इस सबके बावजूद भी 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा सरकार ने भारी मतों के साथ जीत दर्ज की और फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सत्ता में बड़ी जीत के साथ वापिस आये लेकिन मोदी की यह जीत विपक्षी पार्टियों को हजम नहीं हो रही है, जी हाँ नरेंद्र मोदी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह से ठीक पहले सियासी हलचल बढ़ने लगी है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण में आने से इनकार कर दिया है, जबकि पहले उन्होंने आने की हामी भरी थी। दरअसल ममता ने एक चिट्ठी जारी कर लिखा है कि भाजपा ने इस कार्यक्रम में मृत बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवार वालों को बुलाया है और इसे राजनीतिक हत्या करार दिया है। ममता ने कहा है कि ये राजनीतिक हत्या नहीं है, बल्कि आपसी रंजिशों के मसले हैं।

इसके आगे ममता बनर्जी ने चिट्ठी में लिखा है, ‘बधाई, नए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी। आपके संवैधानिक आमंत्रण को मैंने स्वीकार कर लिया था और आपके शपथ ग्रहण समारोह में मैं आने को तैयार थी। लेकिन पिछले कुछ समय में मैंने रिपोर्ट्स देखी हैं कि भारतीय जनता पार्टी कह रही है कि उन्होंने भाजपा के उन 54 कार्यकर्ताओं के परिवार को भी न्योता दिया है जिनकी बंगाल में राजनीतिक हत्या कर दी गई है।

ममता ने लिखा कि ये बिल्कुल झूठ है, बंगाल में कोई राजनीतिक हत्या नहीं हुई है. ये हत्याएं आपसी रंजिश, पारिवारिक लड़ाई और अन्य मसलों की वजह से हुई है। इनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है, ऐसा कोई रिकॉर्ड भी नहीं है।

उन्होंने लिखा कि सॉरी नरेंद्र मोदी जी, इसी वजह से मैं आपके शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो पाउंगी। ये समारोह लोकतंत्र का जश्न मनाने वाला था, लेकिन किसी एक राजनीतिक दल को नीचा दिखाने वाला नहीं है। कृप्या मुझे क्षमा करें। आप भलीभाँति जानते है कि बंगाल में लोकसभा चुनाव के दौरान जमकर हिंसा हुई थी। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के कई कार्यकर्ता भी मारे भी गए थे, बीजेपी इन्हें शहीद बता रही है। भाजपा ने नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में इन सभी 54 भाजपा कार्यकर्ता के परिवारों को बुलाया था। जिसे कई विपक्षी दल भाजपा की मिशन 2020 की रणनीति का हिस्सा बता रहे है।

गौरतलब है कि इस बार बंगाल में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत हासिल की है। बंगाल की कुल 42 लोकसभा सीटों में से भाजपा ने 18 सीटों पर जीत हासिल की है तो वहीं टीएमसी 22 सीटें जीत पाई है। जबकि टीएमसी के पास इससे पहले 37 लोकसभा सीटें थीं। बीजेपी को करीब 40 फीसदी वोट बंगाल में मिले है और कह सकते है कि बीजेपी की जीत ममता बनर्जी को सहन नहीं हो पा रही है इसलिए वो कोई न कोई नया बहाना ढूढ़कर मोदी के शपथ समारोह में शिरकत नहीं करने वाली है। अब देखना यह है कि ममता दीदी शपथ समारोह में जाती है या नहीं और दीदी को मनाने के लिए या मोदी भईया क्या कुछ करते है या नहीं।

Tag In

#chiefminister #mamata #MamataBanerjee #oathceremony #PMMODI #primeministernarendramodi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *