जानिए, एकदंत लंबोदर विघ्नहर्ता श्रीगणेश की पूजा का शुभ मुहूर्त

धर्म,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। आज देशभर में गणेश चतुर्थी का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है। अपने प्रथम पूज्य के दर्शन करने के लिए भक्त अल सुबह ही मंदिरों में पहुंचने लगे। आज मनाए जा रहे गणेश चतुर्थी पर कई प्रकार के शुभ संयोग बनने जा रहे है। जानकारी के अनुसार एक ओर जहां ग्रह-नक्षत्रों की शुभ स्थिति से शुक्ल और रवियोग बनेगा। भाद्रपद शुक्लपक्ष की तिथि को एकदंत लंबोदर विघ्नहर्ता श्रीगणेश का जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है।

ऐसा कहा जाता है प्रथम पूज्य गण​पति का जन्म दोपहर के समय हुआ था। इसलिए दोपहर में गणेश जी की पूजा करना शुभ माना गया है। बता दें कि पंचांग के अनुसार गणेश पूजा करने का सर्वश्रेष्ठ अभिजित मुहूर्त प्रात: लगभग 11.55 से दोपहर 12.40 तक रहेगा। इसके अलावा पूरे दिन शुभ संयोग होने से सुविधा अनुसार किसी भी शुभ लग्न या चौघड़िया मुहूर्त में गणेश जी की स्थापना कर सकते हैं।

इस बार गणेश चतुर्थी का पावन पर्व 2 सितंबर से प्रारंभ होकर 10 दिन बाद अनंत चतुर्दशी को समाप्त होगा। गणेश चतुर्थी को प्रथम पूज्य भगवान गणेश को विराजमान किया जाता है वहीं अनंत चतुर्दशी को विसर्जन किया जाता है।

Tag In

#ganeshchaturthi #ganeshchaturthi2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *