ICICI लोन मामला: ED ने की चंदा कोचर और वेणुगोपाल के घर छापेमारी

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज़ डेस्क, तीर्थराज । आईसीआईसीआई बैंक लोन घोटाले के मामले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार सुबह छापेमारी की कार्रवाई की। इस कार्रवाई के दौरान ईडी ने आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर और वीडियोकॉन समूह के प्रवर्तक वेणुगोपाल धूत के आवास एवं कार्यालय परिसर की तलाशी ली। ईडी ने यह खोजबीन बैंक धोखाधड़ी से जुड़े एक मामले में की है। ईडी अधिकारियों के अनुसार मामले में अधिक सबूत जुटाने के लिए यह कार्रवाई की गई है और इसमें ई़डी द्वारा पुलिस की मदद भी ली गई। अधिकारियों ने बताया कि यह छापेमारी मुंबई एवं अन्य जगहों पर कम से ईडी ने पांच कार्यालय और आवासीय परिसर में की गई है। निदेशालय ने इस महीने की शुरुआत में कोचर, उनके पति दीपक कोचर, धुत एवं अन्य के खिलाफ धनशोधन रोकथाम कानून (मनी लॉन्ड्रिंग कानून) के तहत एक आपराधिक मामला दर्ज किया था।

Mumbai: An Enforcement Directorate raid is underway at the premises of the suspect and accused of ICICI-Videocon case. pic.twitter.com/cZ8IYqKnrV
— ANI (@ANI) March 1, 2019

सीबीआई एफआईआर दर्ज कर जारी कर चुकी है लुक आउट नोटिस

बता दें कि, सीबीआई ने पिछले महीने आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन समूह के प्रवर्तक वेणुगोपाल धूत तीनों के खिलाफ केस दर्ज किया था, जिसमें तीनों पर 1875 करोड़ रूपये के भ्रष्टाचार के आरोप हैं। जिसमें आईसीआईसीआई बैंक ने चंदा के कार्यकाल के दौरान वीडियोकॉन को 2009-11 के बीच छह बार लोन दिया गया था। सीबीआई के अलावा ईडी भी इस मामले में जांच कर रही है। वहीं इस मामले में केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और वेणुगोपाल धूत के खिलाफ हाल ही में लुकआउट नोटिस जारी कर चुकी है। लुक आउट नोटिस जारी करने के बाद तीनों लोग देश छोड़कर बाहर नहीं भाग पाएंगे। इस नोटिस के बाद एयरपोर्ट पर इनको रोक लिया जाएगा। लुक आउट नोटिस ऐसे लोगों के खिलाफ जारी किया जाता है, जिन्होंने किसी तरह का आर्थिक अपराध किया हो।

मुंबई में चंदा की संपति जांच दायरे में, लौटाना होगा बोनस का पैसा भी

आईसीआईसीआई बैंक ने चंदा कोचर को कदाचार का दोषी पाया है। 9 साल की नौकरी में चंदा ने बैंकिंग क्षेत्र में बड़ा नाम कमाया, लेकिन अब बैंक ने 2009 से मिले बोनस से लेकर के भविष्य में मिलने वाली कई सुविधाओं को वापस ले लिया है। अब जस्टिस बी.एन श्रीकृष्णा की रिपोर्ट जारी होने के बाद बैंक ने कड़ा कदम उठाते हुए उनको मिलने वाली सारी सुविधाओं को वापस ले लिया है। ईडी को कोचर दंपत्ति द्वारा खरीदी गई संपत्तियों की जांच करनी है, जिसमें दक्षिण मुंबई स्थित उनके द्वारा खरीदा गया एक अपार्टमेंट भी शामिल है। ईडी ने कहा है कि कोचर दंपत्ति ने पैसों की हेराफेरी करने के लिए कई सारी कंपनियों को बनाया, जिसके जरिए वीडियोकॉन समूह को पैसा भेजा गया था। इस मामले में रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज से भी बात की जाएगी।

Tag In

CBI chanda-kochar ICICI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *