इन दो तिथियों में से एक पर रखी जा सकती है राममंदिर निर्माण की नींव!

न्यूज़ गैलरी,

ले पंगा न्यूज डेस्क, धीरज सैन। 9 नवंबर 2019 का दिन भारत के लिए बहुत खास रहा। क्योंकि इस दिन सुप्रीम कोर्ट ने लंबे समय से चले आ रहे अयोध्या राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद पर ऐतिहासिक फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में संविधान पीठ ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर अपना फैसला सुनाया। कोर्ट ने इस फैसले में विवादित जमीन पर राम मंदिर बनाने का फैसला सुनाया। साथ ही मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ की वैकल्पिक  जगह देने का आदेश दिया है।

इस के साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने तीन महीनों के अंदर ही राम मंदिर बनाने के लिए एक ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया है। इसी बीच ऐतिहासिक फैसला आने के बाद राम मंदिर निर्माण की नींव रखने के लिए संत समाज ने दो तारीख बताई है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार अखिल भारतीय संत समिति ने बताया कि राम मंदिर की नींव आने वाले हिंदू नूतनवर्ष या श्रीराम के जन्मदिन यानि की रामनवमी को रखीं जाएं।

बता दें कि शनिवार को आएं ऐतिहासिक फैसले के बाद देश में शांति और सौहार्द कायम है। हिन्दू और मुस्लिम पक्ष के धर्मगुरूओं ने इस फैसले पर किसी भी पक्ष में फैसला आने के लिए भाईचारा बनाए रखने की सौहार्द अपील की थी। इस ऐतिहासिक फैसले पर छह अगस्त से चालीस दिनों तक रोजाना सुनवाई की गई थी। इस फैसले से पहले देश के सभी राज्यों में सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी गई है। अयोध्या सहित कई जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है।

Tag In

#ayodhya #babrimasjid #rammandir #ramtemple #SupremeCourt

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *